Sachin Tendulkar ने ऐसे की थी इस शानदार शॉट की खोज, बताई पूरी कहानी

0
6


नई दिल्ली: भारतीय टीम के दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अपर कट शॉट की कहानी बताई है. उन्होंने कहा कि उन्होंने कभी अपर कट खेलने की प्रैक्टिस नहीं की थी न ही उन्होंने कभी जानबूझकर यह शॉट खेलने की योजना बनाई थी. तेंदुलकर ने बताया कि 2002 के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर उन्होंने यह शॉट खेलने की कोशिश की.

सचिन से सवाल पूछा कि क्या आपने अपर कट का अभ्यास किया या फिर आप जब खेल रहे थे तो यह शॉट आपने अचानक से खेल दिया.

जवाब में तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कहा, ‘यह दक्षिण अफ्रीका में 2002 में हुआ। हम ब्लूमफोनटेन में टेस्ट मैच खेल रहे थे. हम पहले बल्लेबाजी कर रहे थे और मखाया नतिनी ऑफ स्टंप के पास उसी शॉर्ट ऑफ लेंथ पर गेंदबाजी कर रहे थे जो वो आमतौर पर करते हैं. वह बहुत कम लेंथ डिलेवरी डालते हैं. चूंकि वो फ्रिज के बाहरी कोने से गेंदबाजी करने आ रहे थे तो मैं लाइन के बारे में अंदाजा लगा सकता था’.

उन्होंने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका की पिचों पर ज्यादा उछाल होती है. इस तरह की बाउंसरों से निपटने का तरीका यही होता है कि आप गेंद के ऊपर जाएं और अगर गेंद फिर भी आपकी लंबाई से ज्यादा उछाल लेती है तो क्यों न उसके नीचे रहकर भी आक्रामक हुआ जाए’.

उन्होंने कहा, ‘मैंने यही सोचा कि गेंद पर ऊपर चढ़ने और उसे जमीन पर रखते हुए मारने के बजाए उसके नीचे आकर, गेंद की तेजी का इस्तेमाल करते हुए उसे थर्ड मैन बाउंड्री की तरफ खेला जाए’.

तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कहा, ‘इस शॉट ने कई तेज गेंदबाजों को परेशान किया है क्योंकि वह बाउंसर खाली गेंद निकालने के लिए फेंकते थे, लेकिन मैंने उन्हें बाउंड्री में तब्दील किया. मैं किसी तरह की रणनीति नहीं बनाता. कई बार आपको अपनी स्वाभाविक भावना को मानना होता है. मैंने यही किया.

(इनपुट-आईएएनएस)





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here