Michael Holding को क्यों आई MS Dhoni की याद? जानने के लिए देखें ये VIDEO

0
8


नई दिल्ली: वेस्टइंडीज के दिग्गज क्रिकेटर माइकल होल्डिंग (Michael Holding) का मानना है कि सितारों से सजे बैटिंग ऑर्डर के बावजूद भारतीय टीम को महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के ‘कौशल और रवैये’ की कमी खल रही है जो बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए काफी काम आते थे.

आस्ट्रेलिया ने पहले वनडे क्रिकेट मैच में भारत को 66 रन से हराया.  माइकल होल्डिंग (Michael Holding) ने यूट्यूब चैट शो ‘होल्डिंग नथिंग बैक’ में कहा, ‘भारत के लिये लक्ष्य का पीछा करना कठिन था. भारत को महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की कमी खली.’

यह भी पढ़ें- आखिर Glenn Maxwell ने KL Rahul से क्यों मांगी माफी? वजह जानकर हंसी नहीं रोक पाएंगे

उन्होंने कहा, ‘धोनी आम तौर पर बल्लेबाजी क्रम में निचले हाफ में उतरते हैं और लक्ष्य का पीछा करते हुए नियंत्रण बना लेते हैं. उनके टीम में रहते भारत ने अतीत में लक्ष्य का बखूबी पीछा किया है. भारत के पास काफी प्रतिभाशाली बल्लेबाज हैं जो स्ट्रोक्स खेलने में माहिर है. हार्दिक ने शानदार पारी खेली लेकिन फिर भी भारत को धोनी जैसे खिलाड़ी की जरूरत थी. सिर्फ कौशल ही नहीं बल्कि रवैये के मामले में भी.’

 

होल्डिंग ने कहा कि टीम इंडिया (Team India) लक्ष्य का पीछा करते हुए धोनी के रहते आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहती थी. उन्होंने कहा, ‘वे टॉस जीतकर फील्डिंग से नहीं डरते थे क्योंकि उन्हें पता था कि एमएस धोनी (MS Dhoni) क्या कर सकता है और उनके बल्लेबाज कितने सक्षम हैं.’

 

उन्होंने कहा, ‘लक्ष्य का पीछा करते समय धोनी कभी घबराते नहीं थे. उन्हें अपनी क्षमता का पता था और वे विचलित नहीं होते थे. जो भी साथ में बल्लेबाजी करता था, वह उससे बात करते रहते और उसकी मदद करते थे. भारत का बल्लेबाजी क्रम शानदार है लेकिन लक्ष्य का पीछा करने में धोनी की बात ही अलग थी.’

होल्डिंग ने भारत की लचर फील्डिंग की भी आलोचना की. उन्होंने कहा, ‘एससीजी बड़ा मैदान है लेकिन भारतीयों की फील्डिंग बेहद औसत रही. गेंद फील्डर्स के सिर के ऊपर से निकल गई लेकिन छक्का नहीं हुआ. सीमारेखा से इतना दूर नहीं रहना चाहिए था.’
(इनपुट-भाषा) 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here