Mithali Raj B’day Special: लेडी तेंदुलकर मितानी ने महिला विश्व क्रिकेट पर किया ‘राज’

0
6


नई दिल्ली: भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दिग्गज मिताली राज (Mithali Raj) आज अपना 38वां जन्मदिन मना रही हैं. मिताली का जन्म 3 दिसंबर 1982 को जोधपुर में हुआ था. एक तमिल परिवार में जन्म लेने वाली मिताली ने 10 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया और 7 साल बाद वह भारतीय टीम का हिस्सा थीं. अपनी बल्लेबाजी के दम पर उन्होंने पूरी दुनिया  में अपना लोहा मनवाया और इसलिए उन्हें लेडी तेंदुलकर भी कहा जाता है.

डांसर बनना चाहती थी मिताली

मितानी (Mithali Raj) ने ‘भरतनाट्यम’ नृत्य में ट्रेंनिग प्राप्त की है. वो एक डांसर बनना चाहती थीं. लेकिन जब से मिताली ने क्रिकेट का बल्ला थामा तब से नृत्य-कला और मंच को छोड़कर क्रिकेट और मैदान को ही अपनी ज़िंदगी बनाने का फैसला किया. बचपन में जब उनके भाई को क्रिकेट की कोचिंग दी जाती थी, तब वह मौका पाने पर गेंद को घूमा देती थी. तब क्रिकेटर ज्योति प्रसाद ने उसे नोटिस किया और कहा कि वह क्रिकेट की अच्छी खिलाड़ी बनेगी.

Dhyan Chand Death Anniversary: जानिए हॉकी के ‘जादूगर’ ध्यान चंद की कुछ खास बातें

डेब्यू मैच में जड़ा था शतक

मिताली राज ने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आयरलैंड के खिलाफ 1999 में डेब्यू किया था. अपने डेब्यू मैच में उन्होंने साफ कर दिया थी वह क्रिकेट में लंबी पारी खेलने वाली है. उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ नाबाद 114 रन बनाए थे.

टेस्ट में सबसे लंबी पारी खेलने का विश्व रिकॉर्ड

मिताली राज ने टेस्ट क्रिकेट में अपना डेब्यू साल 2002 में किया था. जिसके बाद तीसरे ही टेस्ट में उन्होंने इतिहास रच दिया था. इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने 407 गेंदों में 19 चौके की मदद से 214 रन की शानदार पारी खेली थी. अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेट में आज तक का सर्वाधिक स्कोर 214 रन बना कर कीर्तिमान स्थापित किया. इसके लिए उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के केरन रोल्टन के 209 रनों का रिकॉर्ड तोड़ा था.

वनडे सीरीज हारने के बाद रैकिंग में भी पिछड़ा भारत, ऑस्ट्रेलिया ने किया टॉप

सबसे आगे हैं लेडी तेंदुलकर

मिताली राज महिला एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 6,000 रनों को पार करने वाली एकमात्र महिला क्रिकेटर हैं. वहीं मिताली (Mithali Raj) भारत की पहली ऐसी महिला खिलाड़ी है जिन्होंने टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 2 हजार या इससे ज्यादा रन बनाए हैं. इसके अलावा राज एकमात्र खिलाड़ी (पुरुष या महिला) हैं जिन्होंने एक से अधिक आईसीसी वनडे विश्व कप फाइनल में भारत का नेतृत्व किया है, जो 2005 और 2017 में दो बार ऐसा था.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here