Sydney Test में पिच को नुकसान करने का मामला: Steve Smith के बचाव में आए कोच Justin Langer और Nathan Lyon

0
6


ब्रिसबेन: ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ (Steve Smith) पर सिडनी टेस्ट के आखिरी दिन पिच को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगा है. उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल भी हुआ था. ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) ने इन आरोपों का सिरे से खारिज किया है.

स्टीव स्मिथ को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (Sydney Cricket Ground) में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में कैमरे पर ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का गार्ड मिटाते हुए देखा गया था. जिसके बाद ट्विटर पर उन्हें धोखेबाज तक कह दिया गया. 

यह भी पढ़ें- मोहम्मद सिराज पर नस्लीय टिप्पणी का मामला: भारतीय क्रिकेट फैन के दावे से कहानी में आया नया ट्विस्ट

लैंगर ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘स्मिथ के बारे में जो बकवास मैंने सुनी है उस पर मुझे यकीन नहीं हो रहा है. ये पूरी तरह से बकवास है. अगर कोई स्मिथ को जानता है तो, वो मैदान पर कुछ अजीब सी हरकतें करते रहते हैं.

जस्टिन लैंगर ने आगे कहा, ‘मैं बीते कई सालों में उनकी इस चीज पर काफी हंसते हैं. मैंने इसके बारे में सार्वजनिक तौर पर भी कहा है और अकेले में भी कि स्मिथ थोड़े बहुत अजीब हैं. स्मिथ ने जो क्रीज पर किया वो वह काफी मैचों में करते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘अगर कोई मिलीसेकेंड के लिए यह बात कहे तो वह सही नहीं होंगे बिल्कुल भी नहीं. विकेट काफी फ्लैट थी. यह सीमेंट की विकेट की तरह थी. आपको क्रिज खोदने के लिए 15 इंच के स्पाइक चाहिए होंगे.’

 

नाथन लॉयन (Nathan Lyon) ने भी स्टीव स्मिथ (Steve Smith) का बचाव किया है और कहा कि लोगों ने जिस तरह से स्मिथ को लेकर बातें की हैं उससे वह बेहद निराश हैं.

लॉयन ने कहा, ‘जाहिर सी बात है कि हमने उनसे बात की थी. हम साथ हमें बबल में हैं. मैं उन्हें रोज देखता हूं. लेकिन जिस तरह से हर कोई उन पर कूद पड़ा है उससे मैं निराश हूं.’

लॉयन ने आगे कहा, ‘उन्होंने 80 के तकरीबन टेस्ट मैच खेले हैं और वह हर टेस्ट मैच में ऐसा करते हैं। ईमानदारी से कहूं तो, मैंने भी यह हर टेस्ट मैच में किया है। इसमें कोई गलत नहीं है.’

इस ऑफ स्पिनर ने कहा, ‘स्मिथ को बल्लेबाजी पसंद है. हम सभी यह जानते हैं. हम ये भी जानते हैं कि अगर हम बाकी के बचे टेस्ट मैच में बल्लेबाजी नहीं करते हैं तो भी वह बल्लेबाजी के बारे में सोचते रहते हैं.

लॉयन ने कहा,’उन्होंने ऐसा मुझे मदद करने के लिए किया. वो देख रहे थे कि मुझे कहां गेंद फेंकनी चाहिए. किस गति से गेंदबाजी करनी चाहिए. उन्हें ऑस्ट्रेलियाई ड्रेसिंग रूम से हर किसी का समर्थन मिलेगा.’
(इनपुट-आईएएनएस)





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here